Rajasthan

Displaying 31 - 40 of 111
Vishes Kothari
What is 'folk' about 'folk gods and goddesses'? What makes them 'folk'? Remember what I had said about Pabuji—he is no great god in the Hindu pantheon, but a bhomiya god who has the power to intervene in the problems of everyday life, faced by nomadic communities like the Rabari of Rajasthan….…
in Module
Vishes Kothari
Women’s voices in South Asian history can be hard to come by. Even when written genealogies and histories, epics and religious treatises mention women, they treat them as ‘subjects’ or plot devices furthering male narratives. If one turns to oral traditions, however, one finds abundant presence of…
in Overview
डॉ सतपाल सिंह (Dr Satpal Singh)
डाॅ. सतपाल सिंह: राजस्थान के सामाजिक परिदृश्य में लोक देवी-देवता संस्कृति के प्रादुर्भाव और उसके लोकप्रिय होने के क्या कारण रहे हैं ? डाॅ. भरत ओला: देखिए, राजस्थान के जितने भी लोकदेवी-देवता हुए हैं, वो उस वक्त में हुए हैं जब पूरा सामन्ती काल था और पूरा समाज जाति व्यवस्था में बंटा हुआ था। जो कमेरा…
in Interview
डॉ सतपाल सिंह (Dr Satpal Singh)
लोकगाथाओं के अध्ययन की दृष्टि से भारतीय लोकसाहित्य बेहद महत्त्वपूर्ण है। यहाँ की भाषाओं-संस्कृत, प्राकृत, पाली, अपभ्रंश तथा मध्यकालीन क्षेत्रीय भाषाओं में विपुल परिमाण में लोक ने गाथाओं का सृजन किया जो विविध रूपों में गाई और कही जाती हैं। वेद, उपनिषद, पुराण, बौद्ध, जैन एवं अन्य दार्शनिक ग्रंथों पर…
in Overview
डॉ सतपाल सिंह (Dr Satpal Singh)
  लोकसाहित्य आदिकाल से ही लोकमानस के लिए से अभिव्यक्ति का माध्यम रहा है। यह श्रव्य परंपरा का वह माध्यम है जिसमें ग्राम्य जीवन अपने आपको प्रकट कर सका है। भारतवर्ष लोकसाहित्य की दृष्टि से समृद्ध राष्ट्र रहा है और इसमें लिखित साहित्य के अलावा मौखिक साहित्य की भी विशिष्ट परंपरा रही है। इसके विविध…
in Article
डॉ सतपाल सिंह (Dr Satpal Singh)
गोगाजी लोकदेवता के रूप में राजस्थान ही नहीं अपितु समीपवर्ती हरियाणा, पंजाब, पश्चिमी उत्तरप्रदेश, दिल्ली और मध्यप्रदेश तक पूजे जाते हैं। इनसे जुड़ी हुई लोकगाथा भी इन क्षेत्रों में प्रचलित भाषाओं और बोलियों में गाई जाती हैं जिसे गोगा गाथा, गोगाजी रौ झेड़ौ /झड़ौ, गोगाजी रौ झोड़, बागड़ की लड़ाई आदि…
in Article
डॉ सतपाल सिंह (Dr Satpal Singh)
राजस्थान के पाँच पीरों में से एक गोगाजी पश्चिमी राजस्थान के चुरू जिले में स्थित ददरेवा (राजगढ़) नामक ठिकाने के शासक जेवर चैहान के पुत्र थे। इनकी माता का नाम बाछल था। गोगाजी का जन्म प्रसिद्ध नाथयोगी गोरखनाथ के आशीर्वाद से माना जाता है। गोगाजी के समय के बारे में इतिहासकारों में अनेक मतभेद हैं। कर्नल…
in Module
Shruti Chakraborty
There are more than a thousand museums peppered across India, but you have to start somewhere, right? Here are some options for you and your children this summer to escape the blistering sun (or embrace it), and learn something as well. (Photo Source: MuseumsofIndia.org)   Trying to keep kids…
in Article
Samayita Banerjee
Jaipur’s exquisite Hawa Mahal, the 18th-century Palace of Winds is a rose-tinted example of the Pink City’s architectural splendour. However, as popular a visual the lattice windowed façade might be, there is still much about this 87-ft tall monument that many don’t know. (Photo Source: Wikimedia…
in Article