Folk art

Displaying 1 - 10 of 19
Lakshmi Swaminathan
in Image Gallery
Mushtak Khan
  राजस्थान के भीलवाड़ा क्षेत्र में कपड़े की पृष्ठभुमि पर लोक देवता देवनारायण एवं पाबूजी आदि के जीवन पर आधारित एवं उनकी शौर्य गाथाओं पर बनाए जाने वाले पारम्परिक अनुष्ठानिक कुंडलित चित्र, पड़/फड़ चित्र कहलाते हैं। फड़ केवल एक चित्र भर नहीं माना जाता, यह अपने आप में देव स्वरूप है। इसलिए इसे बनाने वाले…
in Article
Sunil Kumar
चित्र: राजा सलहेस की टेराकोटा मूर्तियां, रमा पंडित, दरभंगा, 2017 । फोटोग्राफर - सुनील कुमार    नेपाल की तरार्इ में स्थित महिसौथा गांव में दुसाध जाति के एक महात्मा थे। उनका नाम था वाक मुनि। वे 12 वर्ष की कठोर तपस्या में लीन थे। इसी दौरान इन्द्रलोक से मायावती नाम की एक अप्सरा फूल लोढ़ने के लिए…
in Article
Sunil Kumar
चित्र: महेंद्र साव, सलहेस लोक-कलाकार, बेतौनहा, मधुबनी, 2016 । फोटोग्राफर - सुनील कुमार   मधुबनी के घोघरडीहा में देर रात तक चल रहे एक लोकनाट्य का दृश्य, मंच पर गर्व से लबरेज नायक के कई संवादों में से कुछ की बानगी:-   नायक का अपना परिचयात्मक संवाद -   हमरो जे घर यौ पंचन राज छै महिसौथा मे। हमरो जे नान…
in Article
हसन इमाम
चित्र: सलहेस लोकगायक, बाजितपुर, दरभंगा टीम, 2016। चित्र - सुनील कुमार   इससे पूर्व कि मैं लोकगाथा राजा सलहेस की सामाजिक प्रासंगिकता के विषय पर विस्तार से चर्चा करूं, अपनी पृष्ठभूमि के बहाने राजा सलहेस नाच की थोड़ी चर्चा करना चाहूंगा। लोकगाथाओं से मेरा पहला परिचय बचपन में हआ। मैं पटना के सेंट जेवियर…
in Article
Meghna Baruah
English Transcript   The processing of mahi (traditional ink) is usually carried out in the winter month of Puh (Assamese month which falls around December-January). In order to make the ink a number of ingredients are required. The text is written with the help of a pen that is usually made from…
in Video
Sunil Kumar
  चित्र: महेंद्र मलंगिया, रंगकर्मी व लोकनाट्य विशेषज्ञ, मधुबनी।    संस्कृति का भार वहन करते सलहेस कलाकार   महेंद्र मलंगिया रंगकर्मी व लोकनाट्य विशेषज्ञ, मधुबनी।    महेंद्र मलंगिया मिथिला के जाने-माने रंगकर्मी और लोकनाट्य विशेषज्ञ हैं। बिहार और नेपाल के लोकनाट्यों पर उन्होंने गंभीर शोध किये हैं और…
in Audio
Meghna Baruah
  Mridu Moucham Bora is an artist who hails from a place called Dhing in Assam. He has been working in the area of manuscript painting in Assam for more than a decade and has a great deal of practical knowledge in this field of work. In this interview, he speaks about his journey so far as a…
in Video
Sunil Kumar
  चित्र: हसन इमाम, रंगकर्मी व लोकनाट्य विशेषज्ञ, पटना     लोकगाथा राजा सलहेस की सामाजिक प्रासंगिकता   हसन इमाम, वरिष्ठ रंगकर्मी व सलहेस लोकगाथा विशेषज्ञ, प्रेरणा, पटना।   मैंने अपने शोध में पाया कि बिहार के दलित समुदाय, खासकर दुसाधों और पासवानों में लोकदेवता के रूप में पूजे जाने वाले सलहेस की…
in Audio
Meghna Baruah
  Chittaranjan Borah is an artist, folk art collector and writer on various subjects pertaining to local history and folk arts. He is the founder of an organisation called Kolong Kala Kendra in Puranigudam, Assam, that works towards preservation and promotion of different forms of traditional arts…
in Video