Chhattisgarh

Displaying 1 - 10 of 338
प्रगति कुलकर्णी (Pragati Kulkarni)
  गोटुल शब्द मैंने पहली बार सुना तब में छत्तीसगढ़ में एक संस्था के साथ काम कर रहा था | गोटुल के बारे में लोगों के अलग अलग विचार थे, कुछ बुरे कुछ अच्छे | मैंने कभी गोटुल देखा नहीं था, पर आदिवासीयों के साथ काम करने वाले सामाजिक कार्यकर्त्ता, शहरों में रहने वाले गोंड समुदाय के लोग, लेखक या पत्रकार से…
in Overview
हर्षित चार्ल्स (Harshit Charles)
in Image Gallery
हर्षित चार्ल्स (Harshit Charles)
घोटुल एक तरह का सामुदायिक स्थान है जो मुरिया एवं माडिया गोंड समुदाय के लगभग सभी गाँव में होता है| यह मुरिया एवं माडिया गोंड आदिवासियों के लिए एक शिक्षा, निर्णय, संचार, संस्कृति और धर्म से जुड़ा स्थान है| सालों पहले बस्तर के मुरिया एवं माड़िया समुदाय ने अपने पारंपरिक ज्ञान को आगे बढ़ाने और गाँव में…
in Module
Swarnima Kriti
in Image Gallery
The soil of Sarguja is rich, loamy and varied. Deep black, ochre and white, their colour and texture lends itself to possibilities of being moulded by hand. Terracotta crafts have been practiced by potter (kumhar) communities from this region as a profession. But the Rajwars, traditionally…
in Video
मुश्ताक खान
सन १९८३  में भोपाल में भारत भवन की स्थापना के उपरांत तत्कालीन मध्यप्रदेश के जो लोक कलाकार प्रकाश में आए, इनमें सुंदरी बाई रजवार भी थीं। सरगुजा के रजवार समुदाय में अपनी झोपड़ियों की कच्ची मिट्टी से बनी दीवारों पर भित्तिचित्र बनाने की परंपरा तो थी परन्तु सन १९८३  में सोना बाई रजवार को मिली प्रसिद्धी…
in Article