Body art

Displaying 1 - 8 of 8
The practice of tattooing is widely prevalent across Chhattisgarh. It is a form of body art practiced mostly by women on women, mainly amongst adivasi and ‘lower’ caste communities from this region. The word used for this practice is godna, which refers to the piercing of the body with needles. The…
in Video
अजय कुमार चतुर्वेदी
छत्तीसगढ़ राज्य जनजातिय बाहुल राज्य है। सरगुजा और बस्तर अंचल की जनजातियों में गोदना अधिक देखने को मिलता है। वैसे हिन्दू धर्म में लगभग सभी जातियों में गोदना प्रथा आदिकाल से प्रचलित है। यह प्रथा धार्मिक, सांस्कृतिक, सामाजिक, वैज्ञानिक और ऐतिहासिक तथ्यां से जुडी हुई है।   गोदना शब्द का शाब्दिक अर्थ…
in Article
मुश्ताक खान
गोदना एक प्राचीन कला है। विश्व भर में इसे आदिवासी संस्कृति का अंग माना जाता है। आधुनिक समय में इसका जो रूप और सन्दर्भ बन गया है वह एक अलग कहानी है, परन्तु हम यहां इसके पारम्परिक चरित्र की ही चर्चा कर रहे हैं।  गोदना शब्द का अर्थ है किसी सतह को बार बार छेदना, अर्थात अनेक बार छिद्रित करना। इस प्रकार…
in Article
The practice of tattooing is widely prevalent across Chhattisgarh. It is a form of body art practiced mostly by women on women, mainly amongst adivasi and ‘lower’ caste communities from this region. The word used for this practice is godna, which refers to the piercing of the body with needles. The…
in Module
Shatabdi Chakrabarti
in Image Gallery