banner

Sahapedia-UNESCO Fellowship 2020

SAHAPEDIA-UNESCO FELLOWSHIP 2020

Call for Applications

Closing on 02 August, 2020

Deadline for the applications has been extended to 12 August 2020

Sahapedia is pleased to announce the fourth edition of the Sahapedia-UNESCO Fellowship programme, to provide enthusiasts, students and scholars an opportunity to engage with and explore India’s rich cultural heritage.

The Sahapedia-UNESCO Fellowship is a part of our efforts to raise awareness – at local, national and international levels – of the importance of tangible and intangible heritage, and to increase access to communities, groups and individuals who constitute or safeguard this heritage. The Sahapedia-UNESCO Fellowship 2020 is supported by the HT Parekh Foundation.

Through this initiative, fellows will be encouraged to conduct documentation and research in diverse areas of cultural knowledge and practice. Research and documentation carried out by the Fellows will be published on the Sahapedia web portal.

We look forward to receiving the applications for the Sahapedia-UNESCO Fellowship 2020. Kindly go through all the Annexures and Terms and Conditions before applying.

Languages

Fellowships are available in the following languages this year – English, Hindi, Bengali, Tamil and Malayalam.

Eligibility

Fellowships are available to post-graduates and above qualified in the disciplines of the Humanities and Social Sciences in the broadest sense, or those with equivalent professional or research experience.  Candidates with prior professional or academic familiarity with the subject under application may be given preference. The Fellowships are available to only those candidates that hold an Indian bank account. For further details, refer to the Annexure V.

Application Procedure

You would be required to submit the following as part of your application.

  1. Resume
  2. Proposal of approximately 1,000 words which, in addition to an abstract of 250 words, must include the following:
    • Scope of work
    • Selection of deliverables
    • Methodology and timeframe. The proposal should be relevant to Sahapedia’s field of work.
  3. Writing sample, a previously written essay or research paper of at least 1,500 words, or a URL link of a 5-10 minutes long video clip indicating the candidate's skills in filmmaking/videography (for documentation); or both, depending on the selection of deliverables.
  4. Bibliography of existing literature or work on the topic. No more than 15 items/titles are expected.

Duration

The fellowship has to be completed between October 01, 2020 and March 30, 2021. Failure to submit completed deliverables within the stipulated time frame will result in the cancellation of the fellowship. Candidates are advised to refer to the timeline outlined in Annexure III.

Categories

Fellowship types are divided into research, documentation, or a combination of the two categories.

Depending on their selection of category, candidates may select their deliverables. Candidates may refer to the guidelines for content creation in Annexure IV.

Deliverables

Each Fellowship consists of three elective deliverables. The candidate may identify, during the time of application, three deliverables, the options for which are given below:

Deliverable I: (Pick one)

1. Illustrated overview/ introductory article (3,000 words with 5–10 images), or 2. Short documentary film (15–20 minutes with English subtitles, along with a synopsis of approximately 500 words)

Deliverable II & III: (Pick any two)

  1. Allied article (1,500 words with 3–5 images), or
  2. Image gallery (30–50 images with captions), or Photo essay (20 images with captions and a short essay of about 500-800 words to complement the visual narrative)
  3. Text interview with an expert/scholar/practitioner (1,500 words, with minimum 10 Q&As).

Funding

Selected candidates will be granted an award of ₹44,445. Applicable Income Tax will be deducted at source as per the provisions of the Income Tax Act, 1961. Thus, the award will amount to ₹40,000, which will be released in three installments, based on the completion of specific deliverables. The procedure for disbursements will be shared upon signing the agreement.

Fellows working in regional languages will receive an additional payment of up to ₹10,000 for translation (upon approval of a sample by the Sahapedia team, and the provision of an invoice).

Candidates are advised to refer to the following annexures for further information:
Annexure I – Brief description of the Fellowship
Annexure II –  Selection Criteria
Annexure III –Timeline
Annexure IV – Guidelines for content creation
Annexure V - Terms and Conditions

सहपीडिया-यूनेस्को शिक्षावृत्ति (फेलोशिप)

आवेदनों के लिए आमंत्रण

अंतिम तिथि: 2 अगस्त, 2020

क्या आप एक उत्साही व्यक्ति,छात्र या शोधार्थी हैं? तो यह अपनी सांस्कृतिक विरासत से जुड़ने और भारतीय ज्ञान प्रणाली को समझने की राह पर आगे बढ़ने का एक मौक़ा है।

शिक्षावृत्ति के बारे में

सहपीडिया को अपने शिक्षावृत्ति कार्यक्रम के चौथे संस्करण की घोषणा करने में ख़ुशी महसूस हो रही है, जिसका मक़सद उत्साही लोगों, छात्रों और शोधार्थियों को अपनी सांस्कृतिक विरासत से जुड़ने और भारत की ज्ञान प्रणाली को समझने का अवसर प्रदान करना है।

अमूर्त सांस्कृतिक विरासत की सुरक्षा के लिए यूनेस्को का सम्मेलन 2003 (जिसे अब यूनेस्को 2003 सम्मेलन लिखा जाएगा), "सांस्कृतिक विविधता की प्रेरणा और शाश्वत विकास की गारंटी के रूप में अमूर्त सांस्कृतिक विरासत के महत्व" को रेखांकित करता है। सहपीडिया-यूनेस्को शिक्षावृत्तियाँ; स्थानीय, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तरों पर अमूर्त विरासत के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाने की कोशिशों का एक हिस्सा है, साथ ही समुदायों, जनसमूहों और व्यक्तियों की इन तक पहुंच बढ़ाने का एक प्रयास है (अनुबंध 1)। सहपीडिया-यूनेस्को शिक्षावृत्तियाँ 2020, संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा समर्थित हैं।

इस पहल के माध्यम से, शिक्षावृत्ति पाने वालों को सांस्कृतिक ज्ञान के विभिन्न क्षेत्रों में महत्वपूर्ण शोध और दस्तावेज़ीकरण करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा जिसके साथ ही वे अपने सृजन में योग दे सकने वाले दायरे से जुड़ सकेंगे और उसका विस्तार भी कर सकेंगे। शिक्षावृत्ति पाने वालों के शोध और दस्तावेज़ीकरण को सहपीडिया वेब पोर्टल पर प्रकाशित किया जाएगा, जो ऑनलाइन संसाधन के विकास में योगदान देगा।

भाषाएँ

इस वर्ष यह शिक्षावृत्ति निम्नलिखित भाषाओं में उपलब्ध है – अंग्रेज़ी, हिंदी, उर्दू, बांग्ला, मराठी, तमिल और मलयालम।

पात्रता

यह शिक्षावृत्तियाँ, स्नातकोत्तर और उससे अधिक योग्यता रखने वाले या उसके समकक्ष अनुभव रखने वाले उम्मीदवारों के लिए मुख्यतः मानविकी और सामाजिक विज्ञान के विषयों में उपलब्ध हैं। अपने आवेदित विषय में पहले से ही अकादमिक समझ या पेशेवर अनुभव रखने वाले उम्मीदवारों को प्राथमिकता दी जा सकती है। शिक्षावृत्तियाँ केवल उन उम्मीदवारों के लिए उपलब्ध हैं जिनके पास भारतीय बैंक खाता है। अधिक जानकारी के लिए, अनुबंध 5 में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्नों को देखें।

अवधि

शिक्षावृत्तियों को 30 अक्टूबर 2020 और 30 मार्च 2021 के बीच अठ्ठाईस (28) सप्ताहों की समय-सीमा में पूरा करना होगा। निर्धारित समय-सीमा के भीतर किसी भी शिक्षावृत्ति को पूरा करने में विफल होने पर उस शिक्षावृत्ति को रद्द कर दिया जाएगा। उम्मीदवारों को अनुबंध 3 में रेखांकित समय-सीमा को देख लेने की सलाह दी जाती है।

श्रेणियाँ

शिक्षावृत्तियों को - शोध, दस्तावेज़ीकरण या दोनों श्रेणियों के संयोजन में बांटा गया है। श्रेणी के चयन के आधार पर, उम्मीदवार नीचे दी गई सूची में से अपने डिलिवरेबल्स (प्रदेय वस्तुओं) का चयन कर सकते हैं। उम्मीदवार अनुबंध 4 में सहपीडिया के लिए सामग्री रचना से सम्बंधित दिशानिर्देशों को भी देख सकते हैं।

डिलिवरेबल्स

प्रत्येक शिक्षावृत्ति में तीन डिलिवरेबल हैं। उम्मीदवारों से आवेदन के समय, डिलिवरेबल्स के प्रकार की पहचान कर लेना अपेक्षित है। इसके अलावा, प्रत्येक चयनित उम्मीदवार को चौथा डिलिवरेबल जमा करना होगा जो कि उनके काम का परिचय (Module Introduction) होगा। बाकी तीन डिलिवरेबल्स के विकल्प निम्नलिखित हैं।

डिलिवरेबल I:

  1. सचित्र विवरण/परिचय लेख (5-10 छवियों के साथ 3000-4000 शब्द), या
  2. लघु डाक्यूमेंट्री फिल्म (500-800 शब्दों के सारांश के साथ, अंग्रेजी उपशीर्षकों के साथ 15-20 मिनट की)

डिलिवरेबल II:

  1. संबंधित लेख (3-5 छवियों के साथ 1500-2000 शब्दों का),
  2. या छवियों की गैलरी (कैप्शन के साथ 30-50 छवियाँ), या फोटो निबंध (फोटो का विवरण देते हुए 1000-1500 शब्दों के साथ 20 छवियाँ)
  3. एक विशेषज्ञ/विद्वान/पेशेवर के साथ साक्षात्कार (न्यूनतम 10 प्रश्न और उत्तरों के साथ, 1500 शब्द)

इसके अलावा, क्षेत्रीय भाषाओं में काम कर रहे चयनित उम्मीदवारों को, अंग्रेजी में अनूदित सामग्री प्रदान करनी होगी। जिसका सैम्पल पहले सहपीडिया टीम द्वारा स्वीकृत किया जाएगा।

निधीकरण (फंडिंग)

चयनित उम्मीदवारों को ₹40,000 का पुरस्कार दिया जाएगा, जो चुने हुए डिलिवरेबल्स के पूरा होने के आधार पर तीन किश्तों में दिया जाएगा। क्षेत्रीय भाषाओं में काम करने वाले उम्मीदवारों को अनुवाद के लिए ₹10,000 की अतिरिक्त राशि प्राप्त होगी।

आवेदन के लिए दिशानिर्देश

आवेदन के साथ निम्नलिखित सामग्री जमा करनी है:

  1. शैक्षिक अभिलेख या कार्य अनुभव (बायोडाटा)
  2. 200-300 शब्दों के सार (abstract) सहित, 1000 शब्दों का प्रस्ताव जिसमें कि शोधकार्य के संभावित विस्तार के साथ डिलिवरेबल्स के विकल्प, शोधपद्धति और अपेक्षित समय सीमा का विवरण दिया जाना चाहिए।
  3. कम से कम 1500 शब्दों का एक लेखन नमूना (पहले लिखा हुआ निबंध), या फिर डिलिवरेबल्स के चयन के आधार पर, फ़िल्म-निर्माण/वीडियोग्राफी (दस्तावेज़ीकरण के लिए) या दोनों में, उम्मीदवारों के कौशलों को दर्शाती, 5-10 मिनट लंबी वीडियो क्लिप
  4. संदर्भग्रंथ सूची/ विषय पर मौजूदा साहित्य या कार्य की सूची जिसमें 15 से अधिक आइटम/शीर्षक न हों। उम्मीदवारों को नियम और शर्तों के लिए अनुबंध 2, शिक्षावृत्ति के लिए समयसीमा के लिए अनुबंध 3, और सहपीडिया पर सामग्री रचना के लिए दिशानिर्देशों के लिए अनुबंध 4 को देखने की सलाह दी जाती है।

सहपीडिया-यूनेस्को शिक्षावृत्ति 2020 के बारे में अधिक जानकारी के लिए, यहाँ क्लिक करें।

अनुबंध I- शिक्षावृत्ति का संक्षिप्त विवरण
अनुबंध II- चयन के मानदंड
अनुबंध III- समय सीमा
अनुबंध IV- सामग्री रचना के लिए दिशानिर्देश
अनुबंध V- नियम और शर्तें

সহপিডিয়া-ইউনেস্কো ফেলোশিপ

দরখাস্তের জন্য আহ্বান

০২ আগস্ট, ২০২০ তারিখে বন্ধ হচ্ছে

আপনি কি একজন বিদ্যানুরাগী, শিক্ষার্থী বা গবেষক? সেক্ষেত্রে ভারতের সাংস্কৃতিক ঐতিহ্যের সঙ্গে নিজেকে সম্পৃক্ত করা এবং ভারতীয় জ্ঞানের ধারা নিয়ে চর্চার এক দারুণ সুযোগ আপনার সামনে।

ফেলোশিপ সম্পর্কে

ভারতীয় সাংস্কৃতিক ঐতিহ্য এবং জ্ঞানের ধারার নানা বিষয়ে চর্চার সুযোগ করে দিতে বিদ্যানুরাগী, শিক্ষার্থী এবং গবেষকদের জন্য সহপিডিয়া তাদের ফেলোশিপ কর্মসূচির চতুর্থ সংস্করণ (ফোর্থ এডিশন) সানন্দে ঘোষণা করছে।

অমূল্য সাংস্কৃতিক ঐতিহ্যের সুরক্ষা-বিষয়ক ২০০৩-এর ইউনেস্কো ধারা (এরপর ইউনেস্কো ২০০৩ ধারা নামে প্রচলিত), “অমূল্য সাংস্কৃতিক ঐতিহ্যের গুরুত্বকে সাংস্কৃতিক বৈচিত্র্যের একটী মুখ্য চালিকাশক্তি এবং দীর্ঘস্থায়ী বিকাশের নিশ্চয়তা হিসেবে” উল্লেখ করে। স্থানীয়, জাতীয় এবং আন্তর্জাতিক স্তরে অমূল্য ঐতিহ্যের গুরুত্ব বৃদ্ধি এবং সমাজ, গোষ্ঠী ও ব্যক্তি মানুষের কাছে তাকে আরও বেশি পৌঁছে দেওয়ার লক্ষ্যে সহপিডিয়া-ইউনেস্কো ফেলোশিপ হল সেই সচেতনতা গড়ে তোলার একটি প্রয়াস - Annexure 1। ২০২০ সালের সহপিডিয়া-ইউনেস্কো ফেলোশিপটি এইচটি পারেখ ফাউন্ডেশনের পৃষ্ঠপোষকতা-প্রাপ্ত।

এই উদ্যোগের দ্বারা, বিচিত্র সাংস্কৃতিক বিষয়ে তথ্যনির্মাণ এবং গুরুত্বপূর্ণ গবেষণা চালাতে গবেষকদের উৎসাহিত করা হবে, যেখানে তাঁরা পারস্পরিক আদানপ্রদান এবং সংযোগ বৃদ্ধির দ্বারা নিজেদের কাজকে সমৃদ্ধ করতে পারবেন। ফেলোদের দ্বারা কৃত এই গবেষণা এবং তথ্যনির্মাণকর্মগুলি সহপিডিয়া ওয়েব পোর্টালে প্রকাশিত হবে, যা অনলাইন রিসোর্সের ক্ষেত্রে গুরুত্বপূর্ণ অবদান রাখবে।

ভাষা

এই বছরে নিম্নোল্লিখিত ভাষাগুলিতে ফেলোশিপ পাওয়া যাবে – ইংরেজি, হিন্দি, উর্দু, বাংলা, মারাঠী, তামিল এবং মালয়ালম। আঞ্চলিক ভাষাগুলিতে গবেষণা এবং তথ্যনির্মাণে আমরা আরও বেশি উৎসাহ-দান করবো।

যোগ্যতা

কলাবিভাগ এবং সামাজিক বিজ্ঞানের নানা শাখায় স্নাতকোত্তর এবং তার উর্ধে শিক্ষিত, অথবা সমতুল্য অভিজ্ঞতাসম্পন্ন ব্যক্তিদের জন্য ফেলোশিপ পাওয়া যাবে। আবেদনের বিষয়বস্তুতে পূর্ব পেশাগত বা শিক্ষাগত অভিজ্ঞতাসম্পন্ন প্রার্থীদের অগ্রাধিকার দেওয়া হতে পারে। ফেলোশিপ শুধুমাত্র সেইসমস্ত প্রার্থীরা পাবেন, যাঁদের ভারতীয় ব্যাংক অ্যাকাউন্ট রয়েছে। আরও বিশদ জানার জন্য, Annexure 5-এ FAQs দেখুন।

মেয়াদকাল

৩০ অক্টোবর, ২০২০ থেকে ৩০ মার্চ, ২০২১, এই চব্বিশ (২৪) সপ্তাহ সময়-সীমার মধ্যে ফেলোশিপ সম্পূর্ণ করতে হবে। নির্ধারিত সময়সীমার মধ্যে ফেলোশিপ সম্পূর্ণ করতে ব্যর্থ হলে ফেলোশিপ বাতিল করা হবে। Annexure 3-তে বর্ণিত সময়সীমার প্রতি প্রার্থীদের নজর রাখতে পরামর্শ দেওয়া হচ্ছে।

শ্রেণিবিভাগ

ফেলোশিপগুলি গবেষণা, তথ্যনির্মাণ, অথবা দুটো বিভাগের মিশ্রণে বিভক্ত হতে পারে। বিভাগ নির্বাচনের উপর ভিত্তি করে, নিচে প্রদত্ত তালিকা থেকে প্রার্থীরা তাঁদের প্রকল্পের জন্য প্রেরণীয় বিষয়বস্তু নির্বাচন করতে পারেন। সহপিডিয়ার জন্য বিষয়সূচী তৈরির লক্ষ্যে প্রার্থীরা Annexure 4-এ উল্লিখিত নিয়মাবলী দেখতে পারেন।

প্রকল্পের বিষয়বস্তু

প্রতিটি ফেলোশিপ একটি আবশ্যিক এবং তিনটি ঐচ্ছিক বিষয়বস্তু নিয়ে গঠিত। আবেদনের সময়ে, প্রার্থীরা তিন প্রকারের বিষয়বস্তু নির্ণয় করতে পারেন। এছাড়া, প্রতিটি নির্বাচিত প্রার্থীকে একটি চতুর্থ বিষয়বস্তু জমা দিতে হবে, বিষয়টির উপরে আরও পড়াশোনা এবং গবেষণা করার জন্য যা হবে রেফারেন্স এবং উদ্ভাবন সম্পদ/ গাইড-এর একটা তালিকা। অন্য তিনটি বিষয়বস্তুর বিকল্পগুলি নিচে দেওয়া আছে।

বিষয়বস্তু I

  • সচিত্র সার্বিক বিবরণ/পরিচয়মূলক নিবন্ধ (৫-১০টি চিত্রসহ ৩০০০-৪০০০ শব্দ), বা
  • স্বল্পদৈর্ঘ্যের তথ্যচিত্র (ইংরেজি ভাষান্তরসহ তথ্যচিত্রের সময়সীমা 15-20 মিনিট, সঙ্গে ৫০০-৮০০ শব্দের একটি সারসংক্ষেপ)

বিষয়বস্তু II

  • নির্দিষ্ট বিষয়নির্ভর নিবন্ধ (৩-৫টি চিত্রসহ ১৫০০-২০০০ শব্দ), অথবা
  • চিত্রপঞ্জি (বিস্তারিত শিরোনামসহ ৩০-৫০টি ছবি), অথবা চিত্রসহপ্রবন্ধ (দৃশ্যগত বর্ণনার পরিপূরক হিসাবে ১০০০-১৫০০ শব্দসহ ২০টি ছবি)
  • একজন বিশেষজ্ঞ/পণ্ডিত/পেশাদার ব্যক্তির সঙ্গে গবেষণার বিষয় সম্পর্কে সাক্ষাৎকার (ন্যূনতম ১০টি প্রশ্নোত্তর-সহ ১৫০০ শব্দ)

এছাড়া, আঞ্চলিক ভাষাগুলিতে কর্মরত নির্বাচিত প্রার্থীদের তাঁদের কাজ ইংরেজিতে অনুবাদ করে দিতে হবে। তার আগে কোনও একটি নমুনা অনুবাদ সহপিডিয়াকে দিয়ে অনুমোদন করিয়ে নিতে হবে।

আর্থিক সহায়তা

নির্বাচিত প্রার্থীদের ৪০,০০০ টাকার একটি পুরস্কার মঞ্জুর করা হবে, যা নির্দিষ্ট বিষয়বস্তু সম্পূর্ণ করার উপর ভিত্তি করে, তিনটি কিস্তিতে ছাড়া হবে। আঞ্চলিক ভাষাগুলিতে কর্মরত ফেলোগণ অনুবাদের জন্য অতিরিক্ত ১০,০০০ টাকা পাবেন (অনুবাদক-প্রেরিত চালান সহপিডিয়া-কর্তৃক অনুমোদনের পর)।

আবেদনের নিয়মাবলী

আবেদনের অংশ হিসেবে নিম্নে উল্লিখিত বস্তুগুলি জমা দিতে হবে:

১. শিক্ষাগত যোগ্যতা এবং অভিজ্ঞতার উল্লেখ-সহ একটা সংক্ষিপ্ত জীবনপঞ্জী

২. ২০০-৩০০ শব্দের একটি সারসংক্ষেপ সহ, ১০০০-১৫০০ শব্দের একটি প্রস্তাবিত গবেষণা পরিকল্পনা, যেখানে থাকবে,

ক. কাজের পরিসর

খ. প্রেরণীয় বিষয়বস্তু নির্বাচন

গ. গবেষণার পদ্ধতি এবং সময়সীমা

৩. বিষয়বস্তুর নির্বাচনের উপর ভিত্তি করে, অন্তত ১৫০০ শব্দের (গবেষণার জন্য) একটি লেখা নমুনা (পূর্বে লিখিত প্রবন্ধ), চলচ্চিত্র-নির্মাণ/ভিডিওগ্রাফির ক্ষেত্রে প্রার্থীদের দক্ষতা যাচাইয়ের জন্য ৫-১০ মিনিটের একটি ভিডিও ক্লিপ (তথ্য নির্মাণের জন্য), এবং দুটি বিষয়বস্তু নির্বাচনের ক্ষেত্রে ভিডিও ক্লিপ এবং লেখা দুটিই পাঠানো আবশ্যিক।

৪. অনধিক ১৫টি শিরোনামে বিষয়টির উপর বিদ্যমান সাহিত্য/গ্রন্থপঞ্জি অথবা কাজের তালিকা

নিয়ম এবং শর্তাবলীর জন্য Annexure 2, ফেলোশিপের নির্ধারিত সময়সীমার জন্য Annexure 3 এবং সহপিডিয়ায় বিষয়সূচি তৈরির নিয়মাবলীর জন্য Annexure 4 দেখতে প্রার্থীদের পরামর্শ দেওয়া হচ্ছে।

Annexure I– ফেলোশিপের সংক্ষিপ্ত বর্ণনা
Annexure II – বিষয় নির্বাচনের শর্তাবলী
Annexure III – সময়সীমার বিবরণ
Annexure IV – বিষয়বস্তুর নির্মিতি সম্বন্ধে নির্দেশ
Annexure V – নিয়ম ও শর্তের বিবরণ।

சாஹாபீடியா – யுனெஸ்கோ ஃபெல்லோஷிப் 2020

விண்ணபிக்க அழைப்பு

ஆகஸ்ட் 02, 2020 அன்று முடிகிறது

நீங்கள் ஒரு ஆர்வலரா? மாணவரா? அல்லது ஆய்வாளரா? இதோ நமது கலாச்சாரப் பாரம்பரியத்துடன் செயல்படவும், இந்திய அறிவு மரபின் மீதான உங்கள் ஆர்வத்தினைப் பின்தொடர ஒரு வாய்ப்பு.

ஃபெல்லோஷிப் பற்றி

நமது கலாச்சாரப் பாரம்பரியத்துடன் செயல்பட மற்றும் இந்திய அறிவு மரபின் மீதான ஆர்வத்தினைப் பின்தொடர ஆர்வலர்கள், மாணவர்கள் மற்றும் ஆய்வாளர்களுக்கு ஒரு வாய்ப்பினை வழங்குவதற்காக, சாஹாபீடியா அதன் ஃபெல்லாஷிப் திட்டத்தின் நான்காவது பதிப்பை அறிவிப்பதில் மகிழ்ச்சியடைகிறது.

சாஹாபீடியா - யுனெஸ்கோ ஃபெல்லோஷிப்பானது, உள்ளூர், தேசிய மற்றும் சர்வதேச அளவிலான புலனாக பாரம்பரியத்தின் முக்கியத்துவம் குறித்த விழிப்புணர்வை உருவாக்கும் முயற்சியின் அங்கமாக இருப்பதோடு, அவற்றின் மீது வெவ்வேறு சமூகங்கள், குழுக்கள் மற்றும் தனிநபர்களின் அணுகலை அதிகரிக்கவும் முனைகிறது.   இணைப்பு 1. சாஹாபீடியா – யுனெஸ்கோ ஃபெல்லோஷிப் 2020 ஹச்.டி. பரீக்ஹ் பவுண்டேஷனால் ஆதரிக்கப்படுகிறது.

இந்த முன்னெடுப்பின் மூலம், ’ஃபெல்லோக்கள்’ பலதரப்பட்ட பண்பாட்டுத் தளங்களை ஆவணப்படுத்தவும், ஆராயவும் ஊக்குவிக்கப்படுவதோடு, அவர்களின் பங்களிப்புகளை மேம்படுத்த உதவும் வகையில் அறிஞர்களோடும்,  மற்றவர்களோடும்  கலந்துரையாடல் நிகழ  வாய்ப்புள்ளது. ஃபெல்லோக்களால் மேற்கொள்ளப்படும் ஆய்வுகளும், ஆவணமாக்கலும், இணை வளத்திற்கு பங்காற்றும் வகையில், சாஹாபீடியா வலைப்பக்கத்தில் பதிப்பிக்கப்படும்.

மொழிகள்

இந்த ஆண்டு பின்வரும் மொழிகளில் ஃபெல்லோஷிப் வழங்கப்படுகிறது - ஆங்கிலம், இந்தி, உருது, வங்காளம், மராத்தி, தமிழ் மற்றும் மளையாளம்.

தகுதி

ஃபெல்லோஷிப்கள், கலை, இலக்கியம் மற்றும் சமூக அறிவியல் துறைகளில் பட்ட மேற்படிப்பு பயின்றவர்களுக்கும் அதற்கு மேலான தகுதியுடையவர்களுக்கும் வழங்கப்படும். இவற்றுக்கு இணையான அனுபவம் கொண்டவர்களும் விண்ணப்பிக்கலாம். முன்னதாக துறை சார்ந்த அறிமுகமும், பணி அனுபவமும் கொண்ட விண்ணப்பதாரர்களுக்கு முன்னுரிமை வழங்கப்படும். ஃபெல்லோஷிப்கள் இந்திய வங்கிக் கணக்குடைய விண்ணப்பதாரர்களுக்கு மட்டுமே கிடைக்கும்.  கூடுதல் விவரங்களுக்கு இணைப்பு 5 ல் FAQ ஐ பாருங்கள்.

கால அளவு

ஃபெல்லோஷிப்கள், 30 அக்டோபர் 2020ல் தொடங்கி 30 மார்ச் 2021க்குள், அதாவது இருபத்து நான்கு வாரங்களுக்குள், முடிக்கப்பட வேண்டும்.  குறிப்பிட்ட காலத்திற்குள் முடிக்கப்படாமல் இருக்கும் ஃபெல்லோஷிப்கள் ரத்து செய்யப்படும். காலவரையறை குறித்து பின்னிணைப்பு 3ல் உள்ள விதிமுறைகளை விண்ணப்பதாரர்கள் வாசிக்கவும்.

வகைகள்

ஃபெல்லோஷிப்கள் ஆராய்ச்சி, ஆவணப்படுத்துதல், அல்லது இவ்விரு வகைகளின் கலவையாக பிரிக்கப்பட்டுள்ளன. அவரவர் வகைகளின் தேர்வைப் பொருத்து, விண்ணப்பதாரர்கள் கீழே கொடுக்கப்பட்ட பட்டியலிலிருந்து தங்களின் வழங்கல்களைத்
தேர்ந்தெடுக்கலாம். விண்ணப்பாதாரர்கள் பின்னிணைப்பு 4ல் உள்ள சாஹாபீடியா உள்ளடக்க உருவாக்கத்திற்கான வழிகாட்டுதல்களை பார்க்கவும்

வழங்கல்கள்

ஒவ்வொரு ஃபெல்லோஷிப்கள் ஒரு கட்டாயமான வழங்கல் மற்றும் மூன்று தேர்வுகளைக் கொண்டுள்ளது. விண்ணப்பதாரர்கள், விண்ணப்பிக்கும்போது, மூன்று வகையான வழங்கல்களை அடையாளம் காணலாம். கூடுதலாக, ஒவ்வொரு தேர்ந்தெடுக்கப்பட்ட விண்ணப்பதாரரும் ஒரு நான்காவது வழங்கலைச் சமர்ப்பிக்க வேண்டும், அது தலைப்பு குறித்த கூடுதல் படிப்பு மற்றும் ஆராய்ச்சிக்கான குறிப்புகள் பட்டியல் மற்றும் வளங்கள்/வழிகாட்டியாக இருக்கும். மற்ற மூன்று வழங்கல்களுக்கான தேர்வுகள் பின்வருமாறு.

வழங்கல் I:

  • சித்தரிக்கப்பட்ட முன்தோற்றம்/ அறிமுக கட்டுரை (3000 -4000 சொற்கள் 5-1- படங்களுடன்), அல்லது
  • சிறு ஆவணப் படம் (15-20 நிமிடங்கள் ஆங்கில துணைத்தலைப்புடன், அத்துடன் 500-800 சொற்களுடன் கதைச் சுருக்கம்)

வழங்கல் II:

  • இணைப்பு கட்டுரை (1500-2000 சொற்கள் 3-5 படங்களுடன்), அல்லது
  • படத் தொகுப்பு (30-50 படங்கள் தலைப்புடன்), அல்லது
  • படக் கட்டுரை (20 படங்கள் , படங்களை விளக்கும் 1000-1500 சொற்களுடன்)

ஒரு நிபுணர்/ஆராய்ச்சியாளர்/பயிற்சியாளருடன் உரையாடல் நேர்காணல் (1500 சொற்கள், குறைந்தபட்சம் 10 கே&ப உடன்), அல்லது

கூடுதலாக, உள்ளூர் மொழிகளில் பணியாற்றும் தேர்ந்தெடுக்கப்பட்ட விண்ணப்பதாரர்கள் ஆங்கிலத்தில் மொழிபெயர்க்கப்பட்ட உள்ளடக்கத்தையும் வழங்க வேண்டும்.

நிதி  உதவி

தேர்ந்தெடுக்கப்பட்ட விண்ணப்பதாரர்கள் ரூ 40,000 நல்களை வழங்கப்படுவார்கள், அது மூன்று தவணைகளில், குறிப்பிட்ட வழங்கலை முடிப்பதைப் பொருத்து வெளியிடப்படும். உள்ளூர் மொழிகளில் பணியாற்றும் ஃபெல்லோக்கள் கூடுதலாக ரூ 10,000 மொழிபெயர்ப்புக்காக பெறுவார்கள்.

விண்ணப்ப வழிகாட்டுதல்கள்

பின்வரும் உள்ளடக்கங்கள் விண்ணப்பத்தின் ஒரு பகுதியாக சமர்பிக்கப்பட வேண்டும்:

1. ரெசியூம் அல்லது கர்ரிகுலம் விடே

2. 1000-1500 சொற்களில் ஒரு முன்மொழிவு, 200-300 சொற்களில் ஒரு சுருக்கத்தையும் சேர்த்து

முன்மொழிவானது ஆராய்ச்சியின் நோக்கு, வழங்கல்கள்தேர்வு, முறை, கால அளவு, மற்றும் ஏற்கனவே உள்ள நூல்கள்/தலைப்பின் செய்யப்பட்ட பணிகள் மீதான அறிமுகம் ஆகியவற்றைக் குறிப்பிட்டிருக்க வேண்டும்.

3. குறைந்த 1500 சொற்களில் (ஆராய்ச்சிக்காக) எழுத்து மாதிரி (முன்பு எழுதப்பட்ட கட்டுரை), அல்லது

ஒரு 5-10 நிமிட வீடியோ கிளிப் அது விண்ணப்பதாரரின் படம் எடுத்தல்/வீடியோகிராபி (ஆவணப்படுத்தலுக்காக) திறமைகளை அல்லது இரண்டின் திறன்களையும் காட்ட வேண்டும், வழங்கல்கள் தேர்வினைப் பொருத்து.

5. நூற்பட்டியல்/தலைப்பில் ஏற்கனவே உள்ள நூற்கள் அல்லது பணிகள் பட்டியல் 15 உருப்படிகள்/ தலைப்புகளுக்கு மிகாமல்.

விண்ணப்பதாரர்கள், விதிமுறைகள் மற்றும் நிபந்தனைகள் பின்னிணைப்பு 2, ஃபெல்லோஷிப்பின் கால அளவு பின்னிணைப்பு 3, மற்றும் சாஹாபீடியா உள்ளடக்க உருவாக்க வழிகாட்டுதல்கள் பின்னிணைப்பு 4 ஆகியவற்றை பார்க்க அறிவுறுத்தப்படுகிறார்கள்.

பின்னிணைப்பு I . ஃபெல்லோஷிப் குறித்த சுருக்கமான விளக்கம்.
பின்னிணைப்பு II . தேர்விற்கான அடிப்படை
பின்னிணைப்பு III. கால அளவு
பின்னிணைப்பு IV.படைப்பு உள்ளடக்கத்திற்கான வழிகாட்டுதல்கள்.
 பின்னிணைப்பு V. விதிமுறைகள் மற்றும் நிபந்தனைகள்

സഹപീഡിയ-യുനെസ്കോ ഫെല്ലോഷിപ്പ് 2020

അപേക്ഷകള്‍ ക്ഷണിക്കുന്നു

അവസാന തീയതി 02 ഓഗസ്റ്റ്‌ 2020

നിങ്ങള്‍ ഒരു വിദ്യാര്‍ഥി(നി)യോ ഗവേഷകനോ(യോ) സംസ്ക്കാരപഠനത്തില്‍ തല്പരനോ(യോ) ആണോ? എങ്കിലിതാ ഇന്ത്യയുടെ സാംസ്ക്കാരികപൈതൃകത്തിലെ വിവിധ വിജ്ഞാനമേഖലകളിലെ നിങ്ങളുടെ താത്പര്യങ്ങള്‍ പിന്തുടരാനുള്ള അവസരം.    

ഫെല്ലോഷിപ്പിനെക്കുറിച്ച്

ഇന്ത്യയുടെ സാംസ്ക്കാരികപൈതൃകത്തിന്‍റെ വിവിധ വിജ്ഞാനമേഖലകളിലെ താത്പര്യങ്ങള്‍ പിന്തുടരാന്‍ നിങ്ങള്‍ക്കായി അരവസരമൊരുക്കിക്കൊണ്ട്  സഹപീഡിയ-യുനെസ്കോ ഫെല്ലോഷിപ്പി ന്‍റെ നാലാം പതിപ്പ് സഹപീഡിയ പ്രഖ്യാപിക്കുന്നു

പ്രാദേശിക, ദേശീയ, അന്താരാഷ്ട്ര തലങ്ങളില്‍ അവിദിതമായ സാംസ്ക്കാരിക പൈതൃകങ്ങളെക്കുറിച്ചുള്ള അവബോധമുണ്ടാക്കുവാനും, സമൂഹങ്ങളേയും, സംഘങ്ങളേയും, വ്യക്തികളേയും കൂടുതല്‍ അഭിഗമ്യമാക്കുവാനുമുള്ള ശ്രമങ്ങളുടെ ഭാഗമാണ് സഹപീഡിയ-യുനെസ്കോ ഫെല്ലോഷിപ്പുകള്‍. സഹപീഡിയ-യുനെസ്കോ ഫെല്ലോഷിപ്പ് 2020 -ന് HP പാരേഖ് ഫൌണ്ടേഷന്‍റെ പിന്തുണയുണ്ട്.       

സാംസ്കാരിക വിജ്ഞാന സരണിയിലെ വ്യത്യസ്തങ്ങളായ മേഖലകളില്‍, അവയോട് ചേര്‍ന്ന് നിന്നുകൊണ്ട്   ഡോക്കുമെന്‍റേഷനും, ഗവേഷണങ്ങളും നടത്തുവാനും അതുവഴി അവയെ കൂടുതല്‍ സമ്പുഷ്ടമാക്കുവാനുമുള്ള  ചേതന ആളുകളില്‍ വളത്തിയെടുക്കുക എന്നതാണ് ഈ സംരംഭത്തിന്‍റെ ലക്ഷ്യം. ഈ ഫെല്ലോഷിപ്പ് ഉപയോഗിച്ച് ചെയ്യുന്ന ഗവേഷണങ്ങളും, ഡോക്ക്യുമെന്‍റേഷനുകളും ഓണ്‍ലൈന്‍ വിജ്ഞാന സമാഹാരത്തിലേയ്ക്ക് ഒരു മുതല്‍ക്കൂട്ടായി സഹപീഡിയയുടെ വെബ് പോര്‍ട്ടലില്‍ പ്രസിദ്ധീകരിക്കുന്നതാണ്.

ഭാഷകള്‍

ഈ വര്‍ഷം ഫെല്ലോഷിപ്പ് ലഭ്യമാകുന്നത് ഇംഗ്ലീഷ്, ഹിന്ദി, ഉര്‍ദു, ബംഗാളി, മറാത്തി, തമിഴ്, മലയാളം എന്നീ ഭാഷകളിലാണ്. പ്രാദേശികഭാഷകളിലുള്ള ഗവേഷണത്തിനും ഡോക്കുമെന്‍റേഷനുമായിരിക്കും മുന്‍ഗണന.

യോഗ്യത

അപേക്ഷകര്‍ക്ക്‌ ഹുമാനിറ്റീസിലോ സോഷ്യല്‍ സയിന്‍സിലോ ബിരുദാനന്തരബിരുദവും അതിലും ഉയര്‍ന്ന ബിരുദമോ പ്രവര്‍ത്തിപരിചയമോ വേണം. പ്രമേയത്തില്‍ സൂചിപ്പിച്ചിട്ടുള്ള വിഷയത്തില്‍ അക്കാദമിക് പരിചയമോ പ്രവര്‍ത്തിപരിചയമോ ഉള്ളവര്‍ക്ക് മുന്‍ഗണന. ഏതെങ്കിലും ഇന്ത്യന്‍ അക്കൗണ്ട്‌ ഉള്ളവര്‍ മാത്രം അപേക്ഷിച്ചാല്‍ മതി. കൂടുതല്‍ വിവരങ്ങള്‍ക്ക് അനുബന്ധം v കാണുക  

കാലദൈര്‍ഘ്യം

2020 ഒക്ടോബര്‍ 30 നും 2021 മാര്‍ച്ച്‌ 30 നും ഇടയിലുള്ള ഏതെങ്കിലും ഇരുപത്തിനാല് (24) ആഴ്ചകളില്‍ ഫെല്ലോഷിപ്പ് പൂര്‍ത്തിയാക്കേണ്ടതാണ്. ഈ സമയപരിധിയ്ക്കുള്ളില്‍ പൂര്‍ത്തിയാക്കുവാന്‍ കഴിയാത്ത പക്ഷം ഫെല്ലോഷിപ്പ് റദ്ദാക്കപ്പെടും. സമയപരിധിയെ പറ്റി അനുബന്ധം 111-ല്‍ പരാമശിച്ചിരിക്കുന്ന കാര്യങ്ങള്‍ അപേക്ഷകര്‍ വായിക്കുക.    

വിഭാഗങ്ങള്‍

ഗവേഷണം, ഡോക്കുമെന്‍റേഷന്‍, ഇവ രണ്ടും ഉള്‍ക്കൊള്ളുന്ന ഒരു സമ്മിശ്രവിഭാഗം എന്നിങ്ങനെ മൂന്ന് വിഭാഗങ്ങളാണ് ഈ ഫെല്ലോഷിപ്പിലുള്ളത്. ഏതു വിഭാഗത്തിനാണോ അപേക്ഷിക്കുന്നത് അതനുസരിച്ച് താഴെ തന്നിരിക്കുന്ന പട്ടികയില്‍നിന്ന് ഈ ഫെല്ലോഷിപ്പിന് വേണ്ടി  സമര്‍പ്പിക്കേണ്ട പഠനരേഖകള്‍ അപേക്ഷകര്‍ക്ക്  തിരഞ്ഞെടുക്കാവുന്നതാണ്. കൂടാതെ അനുബന്ധം v –ലെ സഹപീഡിയയ്ക്കുള്ള ഉള്ളടക്കനിര്‍മ്മാണത്തിനാവശ്യമായ മാര്‍ഗനിര്‍ദേശങ്ങള്‍ കാണുക.   

സമര്‍പ്പിക്കേണ്ട പഠനരേഖകള്‍

അപേക്ഷകര്‍ ഫെല്ലോഷിപ്പിനായി മൂന്ന് പഠനരേഖകളാണ് സമര്‍പ്പിക്കേണ്ടത്‌. അപേക്ഷിക്കുന്ന സമയത്ത് തങ്ങളുടെ കഴിവിനും താല്പര്യത്തിനുമനുസരിച്ചുള്ള വിഭാഗം (മേല്‍സൂചിപ്പിച്ച) തിരഞ്ഞെടുക്കണം. മാത്രമല്ല തിരഞ്ഞെടുക്കപ്പെട്ട അപേക്ഷകര്‍ തങ്ങളുടെ വിഷയത്തിന് ഒരാമുഖം കൂടി കാലപരിധിയ്ക്കുള്ളില്‍ സമര്‍പ്പിക്കണം. താഴെപ്പറയുന്ന  വിഭാഗങ്ങളില്‍ന്നിന്നും ഇഷ്ടമുള്ള തരം തിരഞ്ഞെടുക്കാം.      ‍     

സമര്‍പ്പിക്കേണ്ട പഠനരേഖ 1: 

സചിത്ര അവലോകനം/ ആമുഖ ലേഖനം (3000-4000 വാക്കുകള്‍, 5-10 ചിത്രങ്ങള്‍), അല്ലെങ്കില്‍  
ഹ്രസ്വ ഡോക്യുമെന്‍ററി ഫിലിം (15-20 മിനിറ്റ് ദൈര്‍ഘ്യം, സബ്ടൈറ്റിലോടുകൂടി, കൂടാതെ 500-800 വാക്കിലുള്ള സംഗ്രഹം)

സമര്‍പ്പിക്കേണ്ട പഠനരേഖ II & III:

അനുബന്ധലേഖനം (3-5 ചിത്രങ്ങള്‍, 1500-2000 വാക്കുകള്‍), അല്ലെങ്കില്‍
ചിത്രസഞ്ചയം (വിവരണത്തോടുകൂടിയ 30-50 ചിത്രങ്ങള്‍), അല്ലെങ്കില്‍  
ഫോട്ടോ ഉപന്യാസം (20 ചിത്രങ്ങളും, അവയെ സമ്പൂര്‍ത്തീകരിക്കാന്‍ വേണ്ടിയുള്ള 1000-1500 വാക്കുകളും)

തിരഞ്ഞെടുത്തിരിക്കുന്ന വിഷയത്തില്‍ വിദഗ്ദരോ/ പണ്ഡിതരോ/ പരിശീലകരോ ആയുള്ള വ്യക്തികളുമായുള്ള അഭിമുഖത്തി ന്‍റെ എഴുത്ത് പ്രതി (1500 വാക്കുകള്‍, കുറഞ്ഞത് 10 ചോദ്യോത്തരങ്ങള്‍)  

സാമ്പത്തികസഹായം

തിരഞ്ഞെടുക്കപ്പെടുന്ന വ്യക്തികള്‍ക്ക് 40,000 രൂപ ഗ്രാന്‍റ്റായി ലഭിക്കും. പഠനരേഖകള്‍ സമര്‍പ്പിക്കുന്നതിനെ അടിസ്ഥാനമാക്കി ഈ തുക മൂന്ന് ഗഡുക്കളായാകും നല്‍കുക. പ്രാദേശിക ഭാഷയില്‍ പ്രവര്‍ത്തിക്കുന്നവര്‍ക്ക്, അത് തര്‍ജ്ജമ ചെയ്യുന്നതിനായി 10,000 രൂപ ലഭിക്കുന്നതാണ്.      

അപേക്ഷ തയ്യാര്‍ ചെയ്യുവാനുള്ള മാര്‍ഗ്ഗനിര്‍ദേശങ്ങള്‍

അപേക്ഷയുടെ ഭാഗമായി താഴെ പറയുന്ന രേഖകളും സമര്‍പ്പിക്കേണ്ടതാണ്:

1. റെസ്യൂമെ അല്ലെങ്കില്‍ കരിക്കുലം വിറ്റ

1.    1000-1500 വാക്കുകളില്‍ ഒരു പ്രസ്‌താവന, കൂടാതെ 200-300 വാക്കുകളുള്ള സംഗ്രഹവും. ഇതില്‍ താഴെപ്പറയുന്നവ ഉള്‍പ്പെടുത്തിയിരിക്കണം.
a.    തിരഞ്ഞെടുത്ത പഠനത്തി ന്‍റെ സാദ്ധ്യതകള്‍
b.    സമര്‍പ്പിക്കുവാനുദ്ദേശിക്കുന്ന പഠനരേഖകള്‍  
c.    മെത്തോഡോളജിയും കാലയളവും  

3. എഴുതാനുള്ള സാമര്‍ത്ഥ്യം തെളിയിക്കാനായി 1500 വാക്കുകളില്‍ കുറയാതെയുള്ള (മുമ്പ് ഗവേഷണത്തിനോ മറ്റോ) ഉപന്യാസം. ഡോക്കുമെന്‍റേഷന്‍ വിഭാഗത്തില്‍
അപേക്ഷിക്കുന്നവര്‍ ഫിലിം മെയ്ക്കിങ്ങിലോ, വീഡിയോഗ്രഫിയിലോ ഉള്ള അപേക്ഷകന്‍റെ കഴിവ് തെളിയിക്കുന്ന 5- 10 മിനിറ്റ് ദൈര്‍ഘ്യമുള്ള വീഡിയോ ക്ലിപ്പിന്റെ  URL ലിങ്ക് അയക്കേണ്ടതാണ്. സമ്മ്രിശവിഭാഗത്തില്‍പ്പെട്ടവര്‍ മേല്പറഞ്ഞ രണ്ടും നിശ്ചയമായും അയച്ചിരിക്കണം.      

5. തിരഞ്ഞെടുത്തിരിക്കുന്ന വിഷയവുമായി ബന്ധപ്പെട്ട് വന്നിട്ടുള്ള പഠനങ്ങളുടെ പട്ടിക/ ഗ്രന്ഥസൂചി (15 എണ്ണത്തില്‍ കൂടാതെ).

അനുബന്ധം II -ല്‍ പറയുന്ന വ്യവസ്ഥകളും ഉപാധികളും, അനുബന്ധം III -ല്‍ പരാമര്‍ശിക്കുന്ന സമയക്രമവും,  അനുബന്ധം IV -ല്‍ ഉള്‍പ്പെടുത്തിയിരിക്കുന്ന സഹപീഡിയയുടെ ഉള്ളടക്കത്തിന് ചേര്‍ന്ന വിധം പഠനരേഖകള്‍ തയ്യാറാക്കുന്നതിനായുള്ള  മാര്‍ഗ്ഗനിര്‍ദ്ദേശങ്ങളും വായിക്കുക.

അനുബന്ധം I - ഫെലോഷിപ്പിൻറെ വിശദ  വിവരങ്ങൾ
അനുബന്ധം II-തെരഞ്ഞെടുപ്പ് മാനദണ്ഡങ്ങൾ
അനുബന്ധം III-സമയക്രമം,  
അനുബന്ധം IV- സഹപീഡിയയുടെ ഉള്ളടക്കത്തിന് ചേര്‍ന്ന വിധം പഠനരേഖകള്‍ ഉപാധികളുംതയ്യാറാക്കുന്നതിനായുള്ള  മാർഗ്ഗനിർദ്ദേശങ്ങ ൾ
അനുബന്ധം V- വ്യവസ്ഥകളും ഉപാധികളും
എന്നിവ അപേക്ഷകർ വായിക്കേണ്ടതാണ്.